Autism

आटिज्म, अटेंशन डेफिसिट सिंड्रोम

admin No Comments

आयुर्वेद एक समग्र दृष्टिकोण के तहत केवल मेडिसिन के बारे में नहीं बल्कि जीवनशैली में बदलाव लाने पर भी खास ज़ोर देता है। अच्छी स्मरण शक्ति और ध्यान फोकस करने की योग्यता के लिए तनाव में कमी और पर्याप्त नींद महत्वपूर्ण आवश्यकताएं हैं। इन दिनों भूलने की आदत और याद्दाश्‍त या मेमोरी और एकाग्रता में कमी से संबंधित समस्याएं आम बीमारी होती जा रही हैं। नए शोध दर्शाते हैं कि मेमोरी से जुड़ी समस्या, ध्यान भटकना और ब्रेन डिजनरेशन से निपटने में आयुर्वेद की जानकारी बेहद प्रभावकारी होती है। ब्रेन की शक्ति बढ़ाने आयुर्वेदिक सप्लीमेंट्स जैसे ओमनी सेप्ट , ओमनी पिल तथा मेध्य रसायन पूरी तरह प्रभावी एवं सुरक्षित हैं। अश्वगंध, ब्राह्मी तथा शंखपुष्पी जैसी हर्ब्स से निर्मित उपरोक्त सप्लीमेंट्स न केवल मेमोरी को सुधारते हैं बल्कि तनाव व एंग्‍जाइटी कम करते है और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार आता है। इसके साथ ही इससे नर्व सेल डेन्ड्राइट्स की लंबाई में वृद्धि द्वारा सीधे तौर पर मेमोरी, सीखने और ब्रेन के अन्य कार्यों को बढ़ावा मिलता है। इनके प्रयोग से डिजनरेटिव ब्रेन की बीमीरियों के खतरों को कम किया जा सकता है। आटिज्म, अटेंशन डेफिसिट सिंड्रोम तथा एपिलेप्सी के इलाज में उपरोक्त सप्लीमेंट्स प्रभावी सिद्ध्य हुए हैं। विशेष रूप से ध्यानाभाव एवं अतिसक्रियता जैसी बीमारी में आयुर्वेद इलाज कारगर देखा गया है

Translate »